Select Page

क्या आप भी महाराष्ट्र की यात्रा कर रहे हैं या महाराष्ट्र की यात्रा करने का मन बना रहे है, तो ऐसे समय में महाराष्ट्र ट्रेवेल गाइडलाइन्स के बारे में जानना जरुरी है | आज हम इस पोस्ट के माध्यम से राज्य के यात्रा के दिशा निर्देशों  के बारे बताएँगे। इस समय कोविड महामारी के कारण महाराष्ट्र में यह फैसला लिया गया है की व्यतक्ति को 48 घंटे के अंदर प्राप्त आरटी-पीसीआर रिपोर्ट में नेगेटिव आना जरुरी है | महाराष्ट्र ट्रेवल गाइडलाइन्स के अनुसार इसे दूसरे  राज्यों से यात्रा करने वाले व्यक्तियों के लिए अनिवार्य कर दिया है।

महाराष्ट्र ट्रेवल गाइडलाइन्स के अनुसार महाराष्ट्र में जिलों में यात्रा करने के लिए ई-पास

यदि कोई व्यक्ति आपने जिले से बाहर यात्रा करना चाहते हैं, तो उनके लिए ई-पास प्राप्त करना महाराष्ट्र सरकार के द्वारा वर्तमान में अनिवार्य होगा। महाराष्ट्र के लोग अगर बहुत ज्यादा जरुरी है तो किसी  भी आपातकालीन कारणों से बाहरी जिलों की यात्रा कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए उनके पास उचित कारण होना अनिवार्य है। इसमें अत्यधिक चिकित्सा आपातकाल के कारण , या मृत्यु हो जाने और विवाह आदि शामिल होने के लिए आप महाराष्ट्र ट्रेवल गाइडलाइन्स के अनुसार आप महाराष्ट्र की यात्रा कर सकते है। 

महाराष्ट्र ट्रेवल गाइडलाइन्स के अनुसार अंतर-जिला यात्रा  करने वाले यात्रियों के लिए कुछ छूट प्रदान की गई है इनमे महाराष्ट्र  के देर इन प्रतिबंधों को 15 जून तक  बढाने  का फैसला लिया है। इन जोगो को यात्रा करनी है वो इस निर्धारित समय अवधि के दौरान  राज्य के भीतर निर्धारित अवधि में यात्रा करने की आवश्यकता होगी,इसके लिए उन्हें अब ई-पास की जरुरत पड़ेगी होगी। आपको बात देतेहै की महाराष्ट्र ट्रेवल गाइडलाइन्स को राज्य सरकार ने 14 अप्रैल से लागु कर दिया था इस पर लोगो के आने जाने पर प्रतिबन्ध और व्यवसायों पर भी सख्त से रोक लगा दी गई थी। 

एक रिपोर्ट के अनुसार बताया गया है की, महाराष्ट्र सरकार की योजना के अनुसार अधिकांश नए COVID -19 वाले रोगियों को होम क्वारंटाइन न करके उन्हें संस्थागत अलग रखना का परामर्श दिया है। राज्य सर्कार के स्वास्थ्य विभाग के द्वारा की जाने वाली  स्वास्थ्य सेवाओं की निदेशक ने पीटीआई को बताया, “इसलिए सरकार के द्वारा ने सभी जिला प्रमुख कलेक्टरों से आइसोलेशन सेंटर में बिस्तरों की संख्या बढ़ाने के लिए कहा गया है “

महाराष्ट्र राज्य में यात्रा करे वाले लोगों के लिए यात्रा परामर्श (महाराष्ट्र ट्रेवल गाइडलाइन्स)

  • दूसरे राज्यों से महाराष्ट्र की यात्रा करने वाले यात्रियों को आने से पहले 48 घंटे के भीतर जारी की गई आरटी-पीसीआर की रिपोर्ट में नेगटिव होना अनिवार्य है। 
  • यदि वह यहां पर बिना आरटी-पीसीआर की रिपोर्ट के आते है, तो उनको यहां पर 14 दिन के लिए अलग क्वारंटाइन रहना अनिवार्य होगा। महाराष्ट्र ट्रेवल गाइडलाइन्स के अनुसार  RTPCR  रिपोर्ट नेगटिव के  बिना यात्रियों को हवाई यात्रा के लिए स्वीकार नहीं किया जा सकता है।
  • शिशुओं और सशस्त्र बलो को आरटी-पीसीआर रिपोर्ट से छूट प्रदान की गई है। 
  • सभी गाइड लाइन का पालन करना सभी के लिए अनिवार्य है। 

हमारे द्वारा आपको महाराष्ट्र ट्रेवल गाइडलाइन्स को बताया गया है। यह सभी नियम अभी तक जारी हुई रिपोर्ट के अनुसार है, यदि इसमें कोई बदलाव आता है, तो आप महाराष्ट्र ट्रेवल गाइडलाइन्स की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते है। 

-धन्यवाद