आनंद (Anand Tourist Places)

आनंद (Anand Tourist Places) भारत के गुजरात राज्य के आणंद जिले का प्रशासनिक केंद्र है। यह शहर यह आनंद नगर पालिका द्वारा प्रशासित है, जो इसी के अंतर्गत आता है | आनंद और खेड़ा जिलों से मिलकर चारोतर के नाम से जाने जाने वाले क्षेत्र का हिस्सा है, यहा पर आपको कई तरह की चीजे देखने के लिए मिलती है |

आपको बता दे की आनंद (Anand Tourist Places) भारत की दूध राजधानी के रूप में जाना जाता है।यदि आप देश के पश्चिमी हिस्से की यात्रा करने की योजना बना रहे हैं, और गुजरात आपको पसंद है, तो आप यहा पर घूम सकते है | आनंद एक ऐसा शहर है जिसे आप मिस नहीं कर सकते। 1970 के दशक में जब यह दुग्ध क्रांति का केंद्र बना तो आनंद को राष्ट्रीय महत्व मिला यहा पर ज्यादा मात्रा में दुश का उत्पादन होने के साथ साथ यहा से दूध को अन्य जगहों पर डेरिय फर्म के माध्यम से पहुचाया जाता है | । आनंद शहर जिसे कभी हिंदू संस्कृति और विरासत की राजधानी के रूप में जाना जाता था, इसे ‘श्वेत राजधानी’ के रूप में जाना जाने लगा आपको बताते है आपको यहा पर कोन कोन सी जगह को आप घूम सकते है |

गुजरात के दक्षिणी भाग में स्थित, आनंद का विचित्र शहर अपने नाम की तरह ही खुशियों को प्रतिध्वनित करता है।

आनंद (Anand Tourist Places) चॉकलेट से सराबोर है |

आपको बता दे की आनंद की सड़के दूध, पनीर और चॉकलेट से सराबोर हैं, जिससे यह भोजन प्रेमियों के लिए एक आदर्श स्थान है। यहा पर बड़ी मात्रा में इस चीज का उत्पादन किया जाता है | इसके अलावा, संग्रहालयों और स्मारकों ने शहर की गहरी जड़ें जमाने वाली संस्कृति और परंपराओं के बारे में बताया गया है | आज के समय में सभी उम्र के यात्रियों के लिए एक आदर्श छुट्टी गंतव्य बन गया है | आनंद के पास घूमने के लिए यहां सभी स्थान हैं जो आपके यात्रा कार्यक्रम में एक स्थान के लायक हैं। इसमे आपको अमूल डायरी और चॉकलेट फैक्टरी प्रमुख है |

यहा पर आप चॉकलेट बनाने के पीछे की प्रक्रिया को देख सकते है और वह से इनके स्वाद का मजा भी ले सकते है |

अमूल सहकारी संग्रहालय

इस संस्था को देश के महानतम संस्थानों में से एक माना जाता है | यहा पर आपको देखने के लिए अतीत का वर्णन किया गया है। अमूल सहकारी संग्रहालय आगंतुकों को अमूल के इतिहास से रूबरू कराता है। कोई भी कभी आनंद नहीं जा सकता और न ही अमूल डेयरी संग्रहालय जा सकता है। यह शहर का सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। पानी से घिरा लाल पत्थरों से बना संग्रहालय देखने लायक है। इसके प्रवेश द्वार से ही, गैलरी में संग्रहालय की यात्रा को दर्शाने वाली तस्वीरें हैं जहां से यह शुरू हुआ

इसकी गैलरी में एक बार में 100 लोग बैठ सकते हैं, और हमारे देश के कुख्यात दूध आंदोलन के बारे में वृत्तचित्रों को प्रदर्शित करता है। यहा आपको दूध के प्रसंस्करण के बारे में जान सकते हैं, या यदि आप भाग्यशाली हैं कि आप समय के आसपास हैं, तो आप चल रही कार्यशालाओं में शामिल हो सकते हैं।

फ़्लो आर्ट गैलरी

यदि आपको हस्तशिल्प में रूचि है, तो यह जगह आपको बहुत पसंद आने वाली है | यहा पर एक बहुत लोकप्रिय गैलरी, फ़्लो आर्ट गैलरी वह जगह है जहा आपको कई सारी चीजे देखने को मिलती है | यदि आप प्रामाणिक गुजराती हस्तशिल्प कार्यों के लिए खरीदारी करना चाहते हैं तो इस जगह से खरीद सकते है |  यहा से भित्ति चित्र, मूर्तियां, बर्तन और कपड़ों की सामग्री खरीद सकता है।

स्वामी नारायण मंदिर

स्वामी नारायण मंदिर यहा का एक प्रसिद्ध मंदिर है | आनंद का एक प्रतिष्ठित स्थल में से एक माना जाता है, यह मंदिर उत्कट भक्ति और धर्मपरायणता का स्थान है। स्वामी नारायण मंदिर प्रसिद्ध छह मंजिला इमारत है जो अपने दरवाजे पर भारी भीड़ खींचती है। यहा पर आपको लोगो की काफी भीड़ यहा पर आती है |

एयर मंजिल

एयर मंजिल पर्यटन स्थल अपने नाम की तरह ही अनूठा है, इसे काफी लोग देखने के लिए आते है | यह एक भव्य पर्यटन स्थल में से एक है | जिसमें देखने के लिए चीजों की एक श्रृंखला है। दिल्ली गेट, हलोल गेट और गोधरा गेट नाम के तीन गेट पर जाएं। यहां मौजूद कई मस्जिदों में से 30 मीटर की ऊंचाई पर स्थित जामा मस्जिद में 172 उत्कृष्ट स्तंभ हैं और यह आपकी आंखों के लिए एक दृश्य है। इसमे आपको एक बगीचा, कस्टम हाउस और पानी के चैनल भी देखने को मिलती है |

Leave a Comment