Don Hill Station Gujarat का इतिहास और इसकी अनोखी कहानी

Don Hill Station Gujarat का एक प्रसिद्द Hill Station है, जहा पर आपको देखने के लिए कई सारी प्रिसद्ध चीजे है। गुजरात के डांग जिले में बसा डॉन एक गांव का हिल स्टेशन है, जो 1000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है यह एक खूबसूरत पहाड़ है। यह सापुतारा के बाद गुजरात राज्य का दूसरा हिल स्टेशन है और पूर्व की तुलना में इसकी ऊंचाई सापुतारा से अधिक है। Don Hill Station पर घूमने के लिए आपको ज्यादा समय नहीं लगता है,  डॉन की एक दिन की यात्रा हिल स्टेशन की समृद्ध जैव-विविधता को देखने के लिए पर्याप्त है। यहां का तापमान 30 डिग्री सेल्सियस से 17 डिग्री सेल्सियस के बिच रहता है, जो की पर्यटकों के लिए बेहतर है।  यह बीच ठंडे तापमान के साथ सुखद मौसम आपका स्वागत करेगा, इसमें आपको सूंदर पहाड़ो के साथ हरियाली देखने को मिलती है। 

Don Hill Station का इतिहास

Don Hill Station का इतिहास काफी पुराना है, पौराणिक योद्धा और गुरु द्रोणाचार्य के नाम पर इस जगह का नाम रखा गया है। डॉन हिल स्टेशन लगभग 1200 की जनजातीय आबादी वाला एक प्रसिद्ध शांत गांव है। यहां पर आपको कई तरह की जनजातियों के दे खने का मौका मिलता है। कहा जा रहा है कि यह स्थान संस्कृति और विरासत से भरा हुआ है। इसमें आपको लोगो के रहने और उनकी संस्कृति की झलक देखने को मिलती है। 

अंबिका नदी को पार करते हुए यह जगह शुरु होती है। आप अपने से बहुत नीचे कस्बों और शहरों की भीड़ से अलग इस जगह पर आ सकते है, यह शहर से दूर एक शांत वातावरण के बिच स्थित जगह है। सह्याद्री रेंज में स्थित, लगभग 1000 मीटर की ऊंचाई पर यह जगह स्थित है और इस डांगी एन्क्लेव का नाम आदिवासियों द्वारा श्रद्धेय नाग देवता से लिया गया है। यहां पर उनकी पूजा अर्चना की जाती है।

Don Hill Station की अनोखी कहानी

Don Hill Station Gujarat

Don Hill Station Gujarat में आपको कई जगह देखने को मिलती है, जिसमे ऋतंभरा विश्व विद्यापीठ का दौरा भी इसमें शामिल है। यहां पर पांच दशकों से अधिक समय तक आदिवासी महिलाओं के सशक्तिकरण का काफी प्रयास किया गया है। क्युकी यहां पर महिलाओ को आदिवासी स्थान होने के कारण सभी अधिकार नहीं मिले है, जिसके लिए काफी प्रयास किये गए। इसके लिए कई कार्यकर्ताओ ने यहां काम किया है।  जिसमे ‘डांग की दीदी’ के नाम से मशहूर वह 90 साल से भी ज्यादा की हो चुकी हैं। और घेलूभाई नाइक और छोटूभाई नाइक जैसे अन्य महान सामाजिक कार्यकर्ताओं इसमें शामिल है। 

डॉन हिल स्टेशन कैसे पहुंचे

डॉन हिल स्टेशन पहुंचने के लिए आप तीनो मार्ग का उपयोग कर सकते है। यह स्टेशन एक प्रसिद्ध हिल स्टेशन में से एक है। 

हवाई मार्ग से: यदि आप डॉन हिल स्टेशन हवाई मार्ग से जाना चाहते है, तो आपको इसके लिए निकटतम हवाई अड्डा सूरत जो की (173 किमी) में है। यह उतरने के बाद आप किसी बस या वहां से टैक्सी किराए पर लेनी होगी जिसके माध्यम से आप वहा पहुंच सकते है। 

रेलवे द्वारा: इसके निकटतम रेलवेस्टेशन सूरत है, जिसके बाद आपको आगे का सफर बस द्वारा करना होता है। 

सड़क मार्ग से: यदि आप अपने निजी वहां से डॉन हिल स्टेशन पहुंचना चाहते है, तो आप बड़े शहरो जैसे सूरत, वडोदरा और वापी से सीधे आ सकते है। 

-धन्यवाद

2 thoughts on “Don Hill Station Gujarat का इतिहास और इसकी अनोखी कहानी”

Leave a Comment