Tourist Places in Bilaspur Hindi

बिलासपुर (Bilaspur ) को हम सभी पर्वतीय राज्य के रूप में जानते है | यह हिमाचल प्रदेश का एक पहाड़ी जिला है,  जो कि अपने प्राकृतिक सुंदरता के कारण लोगो का दिल जीतता है | यहां के पर्यटक स्थलों के लिए भी काफी प्रसिद्ध हैं, अगेर इस जगह की बात करे तो यह  समुद्र तल से 670 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है | इसका 1167 वर्ग किलोमीटर का क्षेत्र और 40 सीमाएं हमीरपुर जिला और मंडी जिला को छूती है |

यह एक पहाड़ी शहर के रूप में जाना जाता है | बिलासपुर Bilaspur  के संस्कृति और परंपरा के बारे में बात करें तो आपको बता दें की बिलासपुर जिले के लोगों के दैनिक जीवन में अधिकांश मेले और त्योहार जुड़े हुए हैं दिवाली और होली के साथ नए वर्ष का यहां पर बड़े धूमधाम से आयोजन किया जाता है |

इसमें देखने के लिए मुख्य स्थान –

भाखड़ा नागल डेम (Bhakra Nagal Dam )–

भाखड़ा नांगल डेम Bilaspur turist की सबसे बेहतर जगहों में से एक माना जाता है |  यह हिमाचल प्रदेश की बिलासपुर जिले का प्रसिद्ध डेम हैं,  इसमें चारों तरफ से पहाड़ और मनमोहक दृश्य होने के कारण यह एक टूरिस्ट प्लेस भी माना जाता है | इस डेम का निर्माण सन 1948 को हुआ था | इसकी ऊंचाई 741 फीट हैं जो कि 1700 फीट की लंबाई के क्षेत्र में बना हुआ है | इसमें आप देख सकते है किस तरह से इन डेम का निर्माण किया गया है | (Bhakra Nagal Dam ) वाटर स्पोर्ट्स और रिवर राफ्टिंग भी कर सकते हैं यदि आपको मछली मारने का शौक यानी की फिसिंग करने का शौक है तो इस जगह पर मछली मारना एक आपराधिक काम है |

मैप्ले जंगल कैंप – (Maple Jungle Camp)

आपको यदि एडवेंचर जगह पसंद है तो आप बिलासपुर का मैप्ले जंगल कैंप आपके लिए एक एडवेंचर प्लेस जा सकते है | Mple Camp यह खुलकर एडवेंचर करने के लिए सबसे बेहतर है, यहां प्रकृति के परिदृश्य और रोमांचक गतिविधियां करने का मौका मिलेगा इसलिए यदि आप बिलासपुर में घूमने की जगह के बारे में सोच रहे हैं तो आपको मैप्ले जंगल कैंप जरूर आना चाहिए |

मां नैना देवी मंदिर (Nenna Devi Temple)

मां नैना देवी मंदिर (Nenna Devi Temple)भी यहा का प्रचीन स्थान है | यह हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में स्थित मां नैना देवी का मंदिर श्रद्धालुओं का एक प्रसिद्ध आकर्षक स्थान बना हुआ, पहाड़ की चोटी पर स्थित यह मंदिर मां नैना देवी को समर्पित है | Nenna Devi Temple राष्ट्रीय राजमार्ग 21 से भी जुदा हुआ है | यहा हर साल कई श्रद्धालु दर्शन करने के लिए आते है | यहा पर देवी सती ने यज्ञ मैं खुद को जिंदा जला दिया था जिस के बाद भगवान शिव व्यतीत हो गए उन्होंने सती के शरीर को अपने कंधे पर उठा लिया और अपना तांडव नृत्य शुरू कर दिया था |

बछरेतू का किला (Buchreta Fort ) –

बछरेतू का किला Buchreta Fort हिमाचल प्रदेश का एक ऐतिहासिक महल है, जो की बिलासपुर जिले में आता है | यह कोट धार के शाहतलाई से सिर्फ 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है | यहा लोग इसका डिजाइन वास्तु कला इसका ढांचा देखने के लिए आते है | जो की काफी आकर्षक रहता है | यह समुद्र तल से 300 फीट ऊपर बना यह किला एक सुंदर दृश्य प्रस्तुत करती है किले के निर्माण के विषय में बताया जाता है कि इसका निर्माण बिलासपुर के राजा रतन चंद ने किया था | यह किला 600 साल पुराना है, किले की लंबी भुजाएं लगभग 100 मीटर है | और ऊंचाई 20 मीटर है |

रुक्मणी कुंड – (Rukhmani Kund)

आपको बता दे की रुक्मणी कुंड Tourist Places in Bilaspur  में से के है | यहा पर पहाड़ों से घिरा एक पानी का जलाशय मिलता है | जो की बिलासपुर से 28 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है | यहा आपको ठंडे पानी का अनुभव मिलता है | यहा जंगल में चढ़ाई चलने का आनंद लेना चाहते हैं तो बिलासपुर के रुक्मणी कुंड आपके लिए सबसे बेहतर स्थान में से एक है | यहां आकर आप न केवल पहाड़ की चढ़ाई चढ़ने का शौक पूरा कर सकते हैं बल्कि रुक्मणी कुंड के शानदार दृश्यों का आनंद भी देखने को आपको मिल जाता है |

दोस्तों यह Tourist Places in Bilaspur की सबसे बेहतर जगह है | यहा आप जब भी आये इन जगह पर एक बार जरुर भ्रमण करे |

Leave a Comment