valsad गुजरात – और valsad (वलसाड) के प्रमुख tourist place जहा आप घूम सकते है।

Valsad गुजरात का एक तटवर्ती जिला है। जहा पर आपको कई तरह के टूरिस्ट प्लेस मिलते है।  valsad सभद की उत्पत्ति ‘वड़-साल’ से हुई है, जिसका अर्थ होता है- बरगद (वड़) के वृक्ष की भरमार। इस स्थान पर आपको कई बरगद के पेड़ मिलते है, जिसके कारण इस जगह का नाम valsad रखा गया है।  यहां पर सालभर भारत से कई लोग इस जगह को देखने के लिए आते है।

वलसाड़ अरब सागर के नवसारी व डांग जिला और महाराष्ट्र से घिरा हुआ है। यहां पर गुजरात और महाराष्ट्र दोनों की बॉर्डर मिलती है, जिसके कारण यहां पर गुजरात और महराष्ट्र से लोग ज्यादा घूमने के लिए आते है।  वलसाड वह पहला स्थान है, जहां सबसे पहले पारसियों ने संजन बंदरगाह मिलने से पहले प्रवेश किया था। यह एक जानामाना स्थान है। 

वलसाड जगह को बल्सार के नाम से भी जाना जाता है, इसे अलग अलग तरह से कहा जाता है। कुछ लोग इसे वलसाड कहते है, तो कुछ लोग इसे बल्सार कहते है, लेकिन यह दोनों जगह एक ही है, जो भारत के गुजरात राज्य के वलसाड जिले में एक नगर पालिका है। यह एक बड़ा शहर है। इस शहर में एक कलेक्ट्रेट, एक जिला अदालत और आपको वह अभी सुविधाएं मिलती है, जो एक शहर में होती है। इसका ऐतिहासिक जेल वाला पुलिस मुख्यालय भी यहां पर आपको देखने को मिलता है। 

भारत के पूर्व प्रधान मंत्री मोरारजी देसाई वलसाड के रहने वाले जाते है। भारत के कई शीर्ष नेता गुजरात के है, जिसमे वलसाड का नाम भी आता है। रानी के प्रमुख गायक फ्रेडी मर्करी की वलसाड के थे। उनका मूल परिवार का नाम (बुल्सारा) शहर के पूर्व नाम से लिया गया है। इनके साथ ही बॉलीवुड की पूर्व अभिनेत्री निरूपा रॉय भी यही की रहने वाली है। आइये जानते है, यहां पर कौन सी जगह देखने लायक है। 

Valsad कैसे पहुंचे –

Valsad पहुचने के लिए आप तीनो रास्तो का उपयोग कर सकते है, जिसमे सड़क मार्ग, रेल मार्ग और हवाई मार्ग पहुंचा जा सकता है। 

रेल मार्ग – वलसाड रेलवे स्टेशन

वलसाड पहुंचने के लिए सबसे सरल मार्ग आपको रेलवे का मिलता है। यहां पश्चिम रेलवे के मुंबई-वडोदरा मेनलाइन पर एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है, यहां पर अधिकतर सभी रेलवे होकर गुजरती है। अब कही से भी इसके लिए अपना रिजर्वेशन करवा सकते है। 

हवाई मार्ग –

वलसाड पहुंचने के लिए सबसे निकटतम घरेलू हवाई अड्डा सूरत हवाई अड्डा है| जो मुंबई, दिल्ली, हैदराबाद, कोलकाता जैसे बड़े हवाई अड्डों से जुड़ा है। यह मात्र 96 KM है। यहां उतरने के बाद आप बस द्वारा पहुंच सकते है। 

सड़क मार्ग –

Valsad

यदि आप सड़क मार्ग के द्वारा आना चाहते है, तो इसके लिए आप सूरत से होते हुए सीधे आ सकते है। सूरत से यह 91 km दुरी पर स्थित है।

valsad (वलसाड) के प्रमुख Tourist Place

तीथल वलसाड

वलसाड में तीथल समुद्र तट पर स्थित बहुत ही अच्छा गुजरात के वलसाड जिले  का पर्यटन स्थल है । तीथल  अरब सागर के किनारे गुजरात के वलसाड जिले   में स्थित है। इस स्थल को समुद्र तट  पर काली रेत  के कारन जाना जाता है |  यह दक्षिण गुजरात के  लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है । इसके मुख्या तट पर कई दुकाने है ,जिनसे भारतीय स्नैक्स  जैसे भजिया, दाबेली, भेल चाट, आदि की  दुकानो के स्नेक्स का मजा उठा सकते है |   इसके आलावा इसमें मनोरजनं के लिए  स्मृति चिन्ह, वाटर राइड , घुड़सवारी, ऊंट की सवारी आदि  उपलब्ध हैं जो दर्शको को अपनी और आकर्षित  करती है ।

समुद्र तट वलसाड के बस स्टेशन और रेलवे स्टेशन से नजदीक 4 किमी की दूरी पर है | यहाँ आसानी से रेल और रोड के माध्यम से पंहुचा जा सकता है | गुजरात के वलसाड में स्थित तीथल पर्यटन स्थल समुद्र तट पर अपनी प्राकतिक सुंदरता को बिखेरता हुआ दर्शको को अपनी और आकर्षित करता है| यदि आप अपने परिवार के साथ कही छुट्टी बिताने का मन बना रहे है तो आप इस पर्यटन स्थल को चुन सकते है|

अग्नि मंदिर

यहाँ पारसी धर्म का अग्नि मंदिर हे यह उस  राजा का  मंदिर है, जिसे ईरान शाह भी कहा जाता है,। यह भारत के पश्चिमी तट के उड़ावदा में स्थित है। उदवाडा का छेत्रफल  लगभग 2 वर्ग किलोमीटर  क्षेत्र का एक छोटा  सा  समुद्र तटीय गाँव है   जो गुजरात  के दक्षिणी तट पर स्थित  है।

Valsad

अग्नि मंदिर गुजरात के पयटन में शामिल है |  उदवाडा शहर की विरासत को बनाये रखने क लिए सरकार द्वारा 2007 से एक विकास योजना शुरू की है  इसमें उदवाडा में स्थित  अग्नि मंदिर सहित विरासत भवनों  भी शामिल किये  किये गए  इसमें पर्यटन स्थलों का  संरक्षण शामिल है , पारसी अग्नि मंदिरों में से यह मंदिर  सबसे पुराना और सबसे प्रसिद्ध स्थल  माना  जाता है |

बिलपुडी जलप्रपात, धरमपुर

बिलपुडी जलप्रपात गुजरात के धरमपुर से लगभग 10 किमी दूर स्थित है यह वाटर फॉल बहुत हि सुन्दर  है , जो पर्यटक को अपनी और आकर्षित करती है । आप मानसून  के समय में आप यहाँ की यात्रा कर सकते है | मानसून का  मौसम इसे और भी सुन्दर बनता है|

नर्गोल बीच , नारगोली

वलसाड जिले का तटीय गांव  मेसे नागरोल  सबसे  आकर्षक है  जो महाराष्ट्र और  गुजरात सिमा के पास स्थित है | ।

जो समुद्र तट पर घूमना और मनोरंजन करना चाहते है उनके लिए एक अच्छी जगह है  । नारगोल वलसाड  शहर लगभग   62 किमी की दुरी पर स्थित  है, और इसमें   अंबरगांव और नरगोल समुद्र तट के बीच की दूरी 16 किमी की दुरी पर स्थित है|

विल्सन हिल्स

विल्सन हिल्स भारत के गुजरात में स्थित बहुत ही सुन्दर पर्यटन स्थल है ।यह धरम पुर के तालुका के पास स्थित है , सूरत का सबसे निकटतम हिल स्टेशन है जो पर्यटक को अपनी और आकर्षित करता  है | कहा  जा रहा हे की पर्यटन विभाग यहाँ विकास की योजना बना रहा है  । अगर आप गर्मी के टाइम आप जाते हो तो आप स्थानीय आमो का स्वाद भी ले सकते है  । यह पंगरवाडी  वन्यजीव अभयारण्य  के पास  घने जंगलों में  है ।यहाँ से समुन्द्र कीझलक आसानी से देखी  जा सकती है|

ऊंचाई की बात करे तो इसकी ऊंचाई 750 मीटर (2500 फीट) है जो काफी ऊंची है आपको यहाँ प्राकृतिक द्रश्यो का आनंद ले सकते है । मौसम के अनुसार विल्सन हिल्स गर्मियों के महीनों में काफी लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से हैं, क्योंकि इसकी ऊंचाई अधिक है | यहाँ आप आसपास की तुलना में ज्यादा ठंडी जगह है और यहाँ पर काम आद्र जलवायु का आनंद देती है |

आप हिल स्टेशन धरमपुर शहर से 27 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। आकर्षण केंद्र के रूप में यहाँ कंचो से बनी छतरी है, और यह हिल स्टेशन पर्यटकों को बढ़ावा देता है। जो व्यक्ति ट्रेकिंग जैसी गतिविधि करने में रूचि रखते है उनके लिए यह सबसे अच्छी साइटों मेसे एक माना  जाता है |


मोहनगढ़, धरमपुर

वलसाड के प्रमुख पर्यटन स्थल में मोहनगढ़ भी एक प्रमुख स्थल है यह   कभी धर्मपुर के राजा का महल था आज भी यह पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है । मोहनगढ़ का महल  राजचंद्र मिशन के नियंत्रण में है।

मोहनगढ़  का यह  एक पुराना ऐतिहासिक किला और महल है जो आज तक मौजूद है |  मोहनगढ़ के इस किले को अब सुन्दर जैन मंदिर में बदल दिया है ,आप यहाँ भजन और आध्यत्मिक  गतिविधि को देख सकते हैं |

-Thanks

1 thought on “valsad गुजरात – और valsad (वलसाड) के प्रमुख tourist place जहा आप घूम सकते है।”

Leave a Comment